kala chana benefits | pregnancy me chane khane ke fayade 2021

kala chana benefits –प्रेगनेंसी में महिलाये कुछ भी खाने से पहले बहुत बार सोचती है की गर्भ में पलने वाले शिशु पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा, और वो इसलिए ऐसा सोचती है की कही कुछ भी खाने से उनके शिशु को किसी प्रकार का कोई नुकसान तो नहीं होगा। तो ऐसे में चने खाते समय गर्भवती महिला के मन में ये सवाल भी आते है। चाहे वो भुने हुवे चने हो या भीगे हुवे काले चने। आज इसी सवाल का जवाब हम जानेगे की चने खाने से किसी प्रकार का कोई नुकसान हो सकता है आपके शिशु को या चने खाने से आपको बहुत सारे फायदे मिलते है और आपके शिशु के लिए फायदेमंद है।

wikipedia

गर्भ में पलने वाले शिशु को समय समय पर ज़रूरी पोषक तत्वों की आवशकता होती है फिर चाहे आपको भूख लगे या न लगे। इसलिए आपको हर 3 घंटे में कुछ न कुछ खाना ज़रूरी होता है। जिससे आपके शिशु को बराबर मात्रा में पोषक तत्व मिलती रहे। और उनका विकास सही तरीके से होता रहे।

kala chana benefits -ये तो हर कोई जनता है की आप हर समय खाना नहीं खा सकते, इसलिए आप अपने पास कुछ स्नेक्स रख सकते है जो आप थोड़ी थोड़ी देर में खा सके। और अगर आप कही बहार भी जाते है तो आप इसे ले कर भी जा सकते है। जिससे की आपको कभी भी भूख लगे तो आप इसे खा सकते है। और आपके शिशु को पोषक तत्व मिलता रहे। इसलिए आज हम चने के बारे में बता रहे है ये कोई भी चना हो सकता है जैसे भुने हुवे चने, उबले हुवे चने, या अंकुरित चने इसका आप सेवन कर सकती है।

image credit byandy roberts

प्रेगनेंसी के दौरान चने खाने के फायदे (kala chana benefits)

  • ये बहुत ही आसानी से मिल जाते है इसे बनाने या पकाने की ज़रूरत भी नहीं होती है। आप इसे आसानी से कही भी ले कर जा सकते है। कभी भी आपको भूख लगे तो आप इसका सेवन कर सकते है। अब ये जान लेते है की चने खाने से आपको क्या क्या फायदे मिलते है।
  • प्रेगनेंसी के दौरान चना खाने से आपको कई सारे लाभ मिलते है जैसे – चने के अंदर कैलोरीस की मात्रा बहुत कम होती है मगर इसमें प्रोटीन और आयरन की बात की जाए तो इन दोनों की मात्रा काफी अधिक होती है। जो गर्भ में पल रहे शिशु के विकास के लिए बहुत ज़रूरी भी होता है।
  • बहुत सी महिलाओं को प्रेगनेंसी के समय डायबिटीज की समस्या हो जाती है, आप भुने हुवे चने का सेवन करती है तो ये आपके ब्लड ग्लूकोज को सोख लेते है जिससे की डायबिटीज भी कंट्रोल में रहती है। चने का सेवन आपको रोजाना करना चाहिए।
  • चने के अंदर फाइबर की मात्रा बहुत अच्छी होती है। जिससे की अगर आपको कब्ज की शिकायत हो रही है तो इसमें आपको बहुत ही फायदा हो सकता है आपकी कब्ज को दूर करने में आपकी मदद करता है आपका पेट साफ़ रखता है। और आपके पाचन क्रिया को और भी मजबूत बनता है जिससे की आपके पेट में किसी तरह की परेशनी हो रही है तो या आपका खाना ठीक से नहीं पच रहा है, या पेट में दर्द है जो किसी भी कारण हो सकता है या गैस्टिक के कारण भी हो सकता है, तो इसमें भी आपको काफी फायदा मिलता है।

चने में आयरन (khali pet chane khane ke fayde)

  • kala chana benefits –आयरन की मात्रा भी काफी अधिक होती है, आपके हीमोग्लोबिन को भी बढ़ता है कई बार ऐसा भी देखा गया है की प्रेगनेंसी के दौरान हीमोग्लोबिन कम हो जाता है, ऐसे में अगर आप भुने हुवे चने का सेवन करते है तो आपके हीमोग्लोबिन की मात्रा भी बढ़ जाती है।
  • चने में फोलेट की मात्रा भी वहुत अच्छी होती है। और फोलेट प्रेगनेंसी में बहुत ही ज़रूरी पोषक तत्व माना जाता है। जिससे बच्चे के विकास में मदद मिलती है। और जो न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट बच्चे को हो जाती है जिसे जन्म दोष भी कहा जाता है। उन्हें भी रोकने भी मदद मिलती है।
kala chana benefits

kala chana benefits

  • बहुत से फायदे है चने खाने के, चने को आप अपने डाइट में हमेशा शामिल करे कभी भी आपको थकान हो रही हो तो आप चने का सेवन कर सकते है तो आपको एक दम से एनर्जी का एहसास होगा, इसके सेवन से आपको कभी कमज़ोरी का एहसास नहीं होगा पेट भरा भरा रहता है। क्युकि इसके अंदर प्रोटीन और आयरन की मात्रा अधिक होती है।

चना खाने की मात्रा -(चना खाने के फायदे) how much gram to eat

अगर चना खाने की मात्रा की बात हो तो दिन में चने को आप दो मुठ्ठी भर कर खा सकते है इससे ज़्यादा न खाने। इसमें कोई भी चना हो सकता है भीगे चने भी और भुने हुवे चने भी। अगर आप इस मात्रा से चना खाते है तो आपको इतना प्रोटीन और बाकि पोषक तत्व मिल जाते है जिससे की आपके शिशु और आपको ज़रूरी होता है। और इससे शिशु का भी अच्छा विकास होगा। प्रेगनेंसी के समय किसी भी चीज़ का अधिक सेवन करना अच्छा नहीं होता है। इसलिए सिमित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए।

जैसा की हमने पहले बताया है की चने भी फाइबर की मात्रा अधिक पाई जाती है। जिससे की आपको कब्ज की समस्या में राहत मिलती है मगर इसकी ज़्यादा मात्रा में सेवन करने से यानि की फाइबर की मात्रा अपने शरीर में ज़्यादा बढ़ा लेते है तो ऐसे में आपको गैस्टिक की समस्या भी हो सकती है या आपको पेट फूलने की समस्या हो सकती है। पेट में दर्द हो सकता है या आपको लूज मोशन भी हो सकते है। इसलिए हमने आपको जो मात्रा बताई है आप इतना ही सेवन करे।

इन बातो का आप ध्यान रखे और चने का सेवन सिमित मात्रा में ही करे जिससे की आपको इसका फायदा ही हो नुकसान नहीं।


और अधिक पढ़े –

काजू खाने के 10 फायदे

अनानास खाने के कुछ बेहतरीन फायदे

चुकंदर खाने के 9 फायदे

ब्लैक फंगस क्या है और इससे कैसे बचे (जाने कोरोना मरीजों को ही क्यों हो रहा है ब्लॉक फंगस)

Leave a Reply

Your email address will not be published.