Jeevan Pramaan Certificate: ऑनलाइन आवेदन कैसे करे

जीवन प्रमाण पत्र  : Digital Life Certificate

Jeevan Pramaan पेंशनभोगियों के लिए एक बायोमेट्रिक सक्षम डिजिटल सेवा है। केंद्र सरकार, राज्य सरकार या किसी अन्य सरकारी संगठन के पेंशनभोगी इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।

भारत में लगभग एक करोड़ से अधिक पेंशनभोगी है, जहां विभिन्न सरकारी निकायों द्वारा वितरित पेंशन उनकी आय का एकमात्र साधन है। केंद्र सरकार के लगभग पचास लाख पेंशनभोगी हैं और विभिन्न राज्य और केंद्र शासित प्रदेशों की सरकारों और विभिन्न अन्य सरकारी एजेंसियों की इतनी ही संख्या है। इसमें विभिन्न सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों के पेंशनभोगी शामिल हैं। इसके अलावा सेना और रक्षा कर्मियों की पेंशन पच्चीस लाख से अधिक है।

 

पेंशनभोगियों के लिए सेवा से उनकी सेवानिवृत्ति के बाद एक प्रमुख आवश्यकता बैंकों, डाकघरों आदि जैसी अधिकृत पेंशन वितरण एजेंसियों को जीवन प्रमाण पत्र प्रदान करना है, जिसके बाद उनकी पेंशन उनके खाते में जमा की जाती है। इस जीवन प्रमाण पत्र को प्राप्त करने के लिए पेंशन प्राप्त करने वाले व्यक्ति को या तो व्यक्तिगत रूप से पेंशन वितरण एजेंसी के समक्ष उपस्थित होना आवश्यक है या प्राधिकरण द्वारा जारी किया गया जीवन प्रमाण पत्र है जहां उन्होंने पहले सेवा की है और इसे वितरण एजेंसी को वितरित किया है।

 

संवितरण एजेंसी के सामने व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होने या जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त करने की यही आवश्यकता अक्सर पेंशनभोगी को पेंशन राशि के निर्बाध हस्तांतरण की प्रक्रिया में एक बड़ी बाधा बन जाती है। यह नोट किया गया है कि यह विशेष रूप से वृद्ध और कमजोर पेंशनभोगियों के लिए बहुत कठिनाई और अनावश्यक असुविधा का कारण बनता है जो हमेशा अपने जीवन प्रमाण पत्र को सुरक्षित करने के लिए विशेष प्राधिकारी के सामने खुद को पेश करने की स्थिति में नहीं हो सकते हैं। इसके अलावा, बहुत से सरकारी कर्मचारी अपनी सेवानिवृत्ति के बाद या तो अपने परिवार के साथ रहने के लिए या अन्य कारणों से एक अलग स्थान पर जाने का विकल्प चुनते हैं, इसलिए जब उनकी सही पेंशन राशि तक पहुंचने की बात आती है, तो एक बड़ी तार्किक समस्या पैदा होती है।

 

Jeevan Pramaan के रूप में जानी जाने वाली भारत सरकार की पेंशनभोगियों के लिए digital life certificate जीवन प्रमाण पत्र हासिल करने की पूरी प्रक्रिया को डिजिटाइज़ करके इस समस्या का समाधान करना चाहता है। इसका उद्देश्य इस प्रमाणपत्र को प्राप्त करने की प्रक्रिया को सरल बनाना और इसे पेंशनभोगियों के लिए परेशानी मुक्त और बहुत आसान बनाना है। इस पहल के साथ पेंशनभोगियों को स्वयं को संवितरण एजेंसी या प्रमाणन प्राधिकरण के सामने पेश करने की आवश्यकता अब अतीत की बात हो जाएगी जिससे पेंशनभोगियों को बड़े पैमाने पर लाभ होगा और अनावश्यक बाधाओं को कम किया जा सकेगा।

 

Digital life certificate के लिए आवश्यक दस्तावेज़

यदि कोई पेंशनभोगी डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र जमा करना चाहता है तो उसे कुछ पूर्वापेक्षाएँ पूरी करनी होंगी। एक पेंशनभोगी के पास आधार नंबर, एक पंजीकृत मोबाइल नंबर, फिंगरप्रिंट स्कैन करने के लिए एक समर्थित बायोमेट्रिक डिवाइस, विंडोज 7.0 और इसके बाद के संस्करण के साथ पर्सनल कंप्यूटर या एक एंड्रॉइड मोबाइल / टैबलेट 4.0 और ऊपर होना चाहिए। इसके अतिरिक्त पेंशनभोगियों द्वारा पेंशन वितरण एजेंसी के साथ अपना आधार नंबर पंजीकृत होना चाहिए।

डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र जमा करने के चरण

प्रक्रिया के लिए खुद को पंजीकृत कराने के लिए पेंशनभोगी को पहले जीवन प्रमाण मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड करना होगा। यहां आवेदक को अपना आधार नंबर, पेंशन भुगतान आदेश, बैंक खाता संख्या, बैंक का नाम और मोबाइल नंबर जमा करना होगा। यह पोर्टल बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए आधार प्लेटफॉर्म का उपयोग करता है और आवेदक को पहचान के लिए अपना फिंगरप्रिंट जमा करना होता है।

ऑनलाइन Jeevan Pramaan का स्टेटस कैसे डाउनलोड/चेक करें?

पेंशनभोगी द्वारा सभी विवरण जमा करने के बाद, वह पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस करेगा, जिसमें जीवन प्रमाण पत्र आईडी होता है। उसके बाद, आईडी प्रदान करके जीवन प्रमाण पत्र प्राप्त किया जा सकता है। एक पीडीएफ संस्करण डाउनलोड करने के लिए, पेंशनभोगी को जीवन प्रमाण पोर्टल पर लॉग इन करना होगा। वह दस्तावेज़ के पीडीएफ संस्करण को डाउनलोड करके डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र की स्थिति भी देख सकता है। इसे उपयोगकर्ता या पेंशन संवितरण एजेंट द्वारा जीवन प्रमाण पत्र आईडी के साथ किसी भी समय एक्सेस किया जा सकता है।

Life Certificate Form

जीवन प्रमाण पत्र किसी की नजदीकी बैंक शाखा, डाकघर या कार्यस्थल पर जाकर और विधिवत भरा हुआ फॉर्म भी जमा किया जा सकता है। नए और स्पष्ट रूप से सुविधाजनक साधनों की शुरूआत के बावजूद, दस्तावेज़ जमा करने का यह सबसे आम और पुराना तरीका है।

Jeevan Pramaan Certificate या जीवन प्रमाण डोरस्टेप बैंकिंग एलायंस या पोस्टमैन एट होम सर्विस के माध्यम से भी जमा किया जा सकता है। डोरस्टेप बैंकिंग सेवा में, जो 12 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का गठबंधन है, पेंशनभोगी को डोरस्टेप बैंकिंग ऐप डाउनलोड करना होगा और सेवा बुक करनी होगी। एक एजेंट फिर पेंशनभोगी के घर पर विवरण प्राप्त करने के लिए आएगा और इस तरह प्रक्रिया को पूरा करेगा। इसी तरह, डाक घर पर सेवा इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (Meity) के साथ डाक विभाग का एक विचार है। यहां, एक डाकिया पेंशनभोगी के घर आता है जब वह पोस्टइन्फो ऐप से सेवा बुक करता है।

 

पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग द्वारा 20 सितंबर, 2021 को जारी एक परिपत्र के अनुसार, पेंशनभोगी 12 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के डोरस्टेप बैंकिंग एलायंस या डाक विभाग की डोरस्टेप सेवा का उपयोग करके digital life certificate जमा कर सकते हैं।

Life Certificate Online जमा करने का तरीका

Doorstep banking Alliance: यह ग्राहक के दरवाजे पर सेवाएं प्रदान करने के लिए 12 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के बीच एक गठबंधन है। गठबंधन में बैंकों में भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई), पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी), बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ इंडिया, केनरा बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, इंडियन बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, पंजाब और शामिल हैं। सिंध बैंक, यूको बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया। एलायंस ने डोरस्टेप बैंकिंग सेवाओं की छत्रछाया में जीवन प्रमाण पत्र के संग्रह के लिए सेवा शुरू की है.

How to avail: पेंशनभोगी को पहले मोबाइल ऐप, वेबसाइट या टोल-फ्री नंबर पर कॉल करके सेवा बुक करनी होगी। नियुक्ति के अनुसार तिथि और समय पर डोरस्टेप एजेंट पेंशनभोगी के घर जाएगा।

 

पीएसबी एलायंस ने डोर स्टेप बैंकिंग के माध्यम से डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की सुविधा लाई है, पेंशनर बुक कर सकते हैं। किसी भी चैनल के माध्यम से सेवा अर्थात डीएसबी ऐप/वेब पोर्टल/टोल फ्री नंबर। डीएसबी एजेंट ग्राहक के दरवाजे पर जाकर जीवन प्रमाण ऐप का उपयोग करके ऑनलाइन जीवन प्रमाण पत्र एकत्र करेगा।

 

सेवा बुक करने के लिए, Google Playstore से ‘डोरस्टेप बैंकिंग’ ऐप डाउनलोड करें या वेबसाइट Doorstepbanks.com या www.dsb.imfast.co.in/doorstep/login पर जाएं या टोल-फ्री नंबर 18001213721 या 18001037188 पर कॉल करें।

ध्यान रखें कि बैंक इस डोरस्टेप सेवा का लाभ उठाने के लिए शुल्क ले सकता है। हालांकि, गठबंधन की वेबसाइट पर ऐसे आरोपों का जिक्र नहीं है। एसबीआई की वेबसाइट के अनुसार, वित्तीय और गैर-वित्तीय सेवाओं पर 75 रुपये और जीएसटी लगाया जाता है.

Doorstep service for submission of Digital Life certificate through postman: नवंबर 2020 में, डाक विभाग ने इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के साथ डाकिया के माध्यम से डिजिटल जीवन प्रमाणपत्र जमा करने के लिए डोरस्टेप सेवा शुरू की।

 

पेंशन विभाग ने life certificate for pensioners की सुविधा को पूरे देश में उपलब्ध कराने के लिए, डीओपीपीडब्ल्यू ने इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) में डाकियों और ग्रामीण डाक सेवकों के अपने विशाल नेटवर्क का उपयोग करने के लिए पेंशनरों को घर-घर सुविधा प्रदान करने के लिए शामिल किया है। jeevan pramaan का लाभ उठाने के लिए पेंशनभोगी को ‘Post Info’ एप डाउनलोड करना होगा।

How to avail: इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) की वेबसाइट के अनुसार, यह सेवा आईपीपीबी और गैर-आईपीपीबी ग्राहकों के लिए उपलब्ध है। डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट (डीएलसी) सेवा का लाभ उठाने के लिए, ग्राहक नजदीकी डाकघर से संपर्क कर सकता है या डाकिया/ग्रामीण डाक सेवक द्वारा घर-घर जाने का अनुरोध कर सकता है। डाक विभाग ने पोस्ट इंफो ऐप या वेबसाइट http://ccc.cept.gov.in/covid/request.aspx के माध्यम से घर घर जाकर jeevan pramaan certificate बनाना भी शुरू कर दिया है।

 

Digital Life Certificate पूरी तरह से कागज रहित और परेशानी मुक्त प्रक्रिया है, और प्रमाण पत्र तुरंत बन जाता है। life certificate online पूरा होने पर, digital life certificate तैयार हो जाता है जिसे सीधे राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) द्वारा पेंशनभोगी के साथ साझा किया जाता है। प्रमाण आईडी जनरेट होने के बाद, पेंशनभोगी https://jeevanpramaan.gov.in/ppouser/login लिंक के माध्यम से डीएलसी डाउनलोड कर सकते हैं। डीएलसी की प्रत्येक सफल पीढ़ी के लिए, 70 रुपये (जीएसटी / सेस सहित) का मामूली शुल्क लिया जाएगा। डीएलसी जारी करने के लिए आईपीपीबी या गैर-आईपीपीबी ग्राहकों के लिए कोई डोरस्टेप शुल्क नहीं लगाया जाएगा।

 

CSC Centre – सबसे आसान और सबसे सरल तरीका अपने नजदीकी CSC Centre पर जाकर अपना जीवन प्रमाण पत्र नाम मात्र के फीस पर बनवा सकते है

Jeevan Pramaan Certificate बनाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार संख्या
  • मौजूदा मोबाइल नंबर
  • पेंशन का प्रकार
  • मंजूरी प्राधिकारी
  • पीपीओ नंबर
  • खाता संख्या (पेंशन)

ध्यान रखें कि पेंशनभोगी का आधार नंबर पेंशन वितरण एजेंसी (बैंक/डाकघर आदि) में पंजीकृत होना चाहिए।

KYC क्या है 

यह काम किस प्रकार करता है

जीवन प्रमाण पेंशनभोगी के बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए आधार प्लेटफॉर्म का उपयोग करता है।

एक सफल प्रमाणीकरण डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जेनरेट करता है जो लाइफ सर्टिफिकेट रिपोजिटरी में स्टोर हो जाता है। पेंशन संवितरण एजेंसियां ​​प्रमाण पत्र को ऑनलाइन एक्सेस कर सकती हैं।

 

जीवन प्रमाण पत्र जनरेशन

पीसी/मोबाइल एप्लिकेशन डाउनलोड करें या वैकल्पिक रूप से अपने आप को पंजीकृत कराने के लिए निकटतम जीवन प्रमाण केंद्र या सीएससी केंद्र पर जाएं। बैंक खाता, बैंक का नाम और आपका मोबाइल नंबर, आधार नंबर, पेंशन भुगतान आदेश (PPO No) जैसी आवश्यक जानकारी प्रदान करें।

 

आधार प्रमाणीकरण

फिंगर प्रिंट या आइरिस से अपना बायोमेट्रिक्स प्रदान करें और अपने आप को जीवित प्रमाणित करें।

(life certificate online बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के लिए आधार KYC का उपयोग करता है)

 

जीवन प्रमाण पत्र (Life Certificate)

सफल प्रमाणीकरण के बाद आपके जीवन प्रमाण पत्र आईडी आपके मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस के माध्यम से  भेजी जाती है। प्रमाणपत्रों को पेंशनभोगी और पेंशन संवितरण एजेंसी के लिए किसी भी समय और कहीं भी उपलब्ध कराने के लिए जीवन प्रमाणपत्र भंडार में संग्रहीत किया जाता है।

 

अपने प्रमाणपत्र तक पहुंचें life certificate download

आप जीवन प्रमाण वेबसाइट से जीवन प्रमाण आईडी के मदद से jeevan pramaan certificate की एक पीडीएफ प्रति डाउनलोड कर सकते हैं।

 

पेंशन वितरण एजेंसी

पेंशन वितरण एजेंसी जीवन प्रमाण वेबसाइट से जीवन प्रमाणपत्र प्राप्त करती है और उसे डाउनलोड करती है।

 

इलेक्ट्रॉनिक डिलीवरी

जीवन प्रमाण पत्र बिना किसी मानवीय हस्तक्षेप के, इलेक्ट्रॉनिक रूप से पेंशन वितरण एजेंसी को भी दिया जाता है।