jaundice symptoms in Hindi | piliya ka ilaj | 2021

कुछ खास जानकारिया पीलिया रोग के बारे में जो आपको ज़रूर जानना चाहिए

jaundice symptoms in Hindi –

wikipedia

पीलिया क्या है ?

जॉन्डिस जिसे आम भाषा में पीलिया भी कहते है पीलिया लिवर से रिलेटेड एक डिजीज होता है इस बीमारी में मरीज का बहुत ख्याल रखना पड़ता है क्यों इसी बीमारी से हर साल कई लोगो की मौत भी हो जाती है, पीलिया का सबसे बड़ा कारण है हमारे शरीर में बनने वाला एक पदार्थ जिसको बिलरुबिन (billrubin) के नाम से जाना जाता है।

पीलिया होने पर बिलरुबिन की मात्रा अधिक बढ़ जाती हैं। इस कारण मरीज को पीलिया का रोग हो जाता है,बिलरुबिन हमारे खून में मिल जाता है जिसका रंग पीला ही होता है इसलिए हमारा शरीर पीले रंग का दिखाई देने लगता है। जैसे – आँखों का पीला होना, हमारे नाखुनो का रंग पीला हो जाना, त्वचा का पीला हो जाना

जब हमारा लिवर बिलरुबिन पदार्थ को हमारे शरीर से बहार नहीं निकाल पाता है तब ये बिलरुबिन खून में मिल कर हमारे शरीर में फैल जाता है जिससे पीलिया रोग हो जाता है।

पीलिया होने का कारण – jaundice symptoms in Hindi 

पीलिया हमारे शरीर में कैसे होता है ? – हमारे ब्लड के अंदर रेड ब्लड सेल्स होते है जिसे हिंदी में लाल रक्त कोशिकाएं भी कहते है इन कोशिकाओं की एक समय सिमा या एक लाइफ होती है जो की 120 दिनों की होती है जिसके बाद हमारा लिवर ही इन लाल रक्त कोशिकाओं को ख़त्म करने लगती है या तोड़ने लगती है।

क्युकी इनकी जो लाइफ होती है 120 दिनों की वो पूरा हो जाता है फिर इनका कोई काम नहीं होता है हमारे शरीर में इनकी जगह नए सेल्स या कोशिकाएं बनती है। जब 120 दिन पुरे हो जाते है तो ये रेड ब्लड सेल्स हमारे लिवर में पहुंचते है और वह इनका डिकम्पोजिशन होता है या लिवर इनको तोड़ता है जिसकी वजह से एक पदार्थ निकलता है बिलरुबिन

जिसके बारे में हमने पहले ही बताया है। ये ही बिलरुबिन पीला रंग का होता है और इसे हमारा लिवर माइल में मिक्स कर के हमारे मल या मूत्र से बहार निकल देता है।

लिवर में समस्या आने से

पर जब कभी हमारे लिवर में परेशानी आ जाती है तो या कोई लिवर की बीमारी हो जाती है किसके कारण लिवर को बिलरुबिन को बहार निकलने में परेशानी होती है ,तो कही न कही ये बिलरुबिन हमारे शरीर में जमा होने लगता है। और ब्लड में और मिक्स होने लगता है। जिससे हमारा शरीर का पीलापन दिखना शुरू हो जाता है। जिसे हम पीलिया कहते है।

कई और कारणों से भी आपको jaundice हो सकता है जैसे –

1 – बहुत ज़्यादा दवाइयों का इस्तेमाल करने से कई बार हमे बहुत दवाइयों का सेवन करना पड़ता है पर कुछ दवाइया हमारे लिवर को भी कई नुकसान पहुँचती है बहुत ज़्यादा लेने से जिसकी वजह से लिवर खराबी का कारण बन सकता है और ठीक से काम भी नहीं करता है। जिसकी वजह से पीलिया हो सकता हैं।

2 – लिवर की बीमारी – हम कई बार बहार का खाना खाते है ठेले में या चाट, या कोई भी तली हुई चीज़ जो बाहर खुले में रखी जाती है या कई बार आपने देखा होगा की जहा गन्ने का जूस मिलता है वहा इन सब में ज़्यादा तर मख्खियाँ झूमती रहती है जिसको खाने की वजह से कई बार हेपेटाइटिस हो जाता है जिसकी वजह से भी पीलिया हो जाता है।

3 – खून में किसी प्रकार का संक्रमण होने से कई मामलों में खून की कई बीमारियों या संक्रमण से भी बहुत प्रभाव पड़ता है जिसके कारण पीलिया हो सकता है।

4 – लिवर में इंफेक्शन – कई बार हमारे गलत खान पान की वजह से हमारे शरीर में कई तरह के बीमारियों के साथ साथ ऐसी चीज़े भी हम खा लेते है जो हमे खाने से बचना चाहिए – ऐसा भोजन जो आसानी से पच नहीं पाता है और शरीर में अधिक टॉक्सिन बनने लगता है। जिसकी वजह से भी हमारा लिवर ठीक से काम नहीं कर पाता है , जिसकी वजह से भी पीलिया हो जाता है।

5 – पारिवारिक jaundice – कुछ सम्भावना ये भी हो सकती है की अगर आपके परिवार में किसी को पीलिया हो तो हो सकता है की आपको भी हो।

 

पीलिया के लक्षण – कैसे जाने की हमे पीलिया रोग हो रहा है ?jaundice symptoms in Hindi 

समय से पहले पैदा होने वाले बच्चो में पीलिया रोग का खतरा ज़्यादा होता है। वैसे तो पीलिया किसी भी उम्र के लोगो को हो सकता है जिसका बड़ा कारण है लिवर में समस्या का होना।

जैसा की पीलिया के नाम से ही पता चलता है की ये एक पीला रोग है। – जो हमारे शरीर के ज़्यादा से ज़्यादा हिस्से में पीला पन दिखने को मिलता है। इसके आलावा कुछ ये भी लक्षण है जैसे -(jaundice symptoms in Hindi)

पीलिया होने पर – (पीलिया में आपको कुछ बातो का ध्यान रखना बहुत ज़रूरी है)

जैसे की -jaundice symptoms in Hindi
1 – पीलिया होने पर आपको खाना पान का हमेशा ध्यान रखना चाहिए। और ज़रूरी एक्सरसाइज भी करते रहना भी चाहिए। अगर पीलिया अधिक रूप में बढ़ चूका है या कंडीशन ज़्यादा ख़राब है तो परहेज करना भी ज़रूरी है, और पूरी तरह से आराम करना चाहिए।

2 – जब पीलिया हो तो आपको ज़्यादा से ज़्यादा लिक्विड डाइट लेना चाहिए और फलो का जूस पीते रहना चाहिए। जैसे की संतरे का जूस, नींबू, नाशपाती, अंगूर, गाजर, चुकंदर, अनार, आंवले का जूस ये बस आपके लिए बहुत फायदेमंद होता है।

3 – भारी खाना न खाये जबकि आप खाने की जगह दलीय खा सकते है।

4 – नारियल का पानी भी पी सकते है – पीलिया होने पर नारियल का पानी पिने से आपको इस रोग में बहुत रहत मिलेगा।

5 – पीलिया होने पर आपको हर चिकनाई वाली खाने से दूर रहना है जिसमे बहुत ज़्यादा तेल हो। जैसे की घी,तेल,मख्खन,मलाई कम से कम 30 दिनों तक न खाये।

पीलिया का इलाज – jaundice symptoms in Hindi 

घरेलु उपाए से भी कर सकते है पीलिया का इलाज जैसे की –

1 – गन्ने का जूस

पीलिया रोग में गन्ने का जूस अधिक पिया जाता है अगर आपको पीलिया रोग हो गया है तो आप प्रति दिन 2 गिलास गन्ने का जूस पी सकते है, गन्ने के जूस में सेंधा नमक मिला कर पिने से पीलिया रोग जल्दी ख़त्म हो जाता है।

2 – प्याज –

पीलिया रोग में प्याज की एक एहम भूमिका है। थोड़ी सी प्याज में काली मिर्च पीस कर मिलाये और इस पर एक नीबू का रस मिला कर इसका सेवन करे इससे भी पीलिया रोग को दूर करने में मदद मिलती है।

3 – लहसुन –

पीलिया में लहसुन का सेवन करने से पीलिया धीरे धीरे ठीक होने लगता है , एक गिलास दूध में 3 से 4 लहसुन की कालिया को पीस कर मिला ले और रोज इसका सेवन करने से एक सप्ताह में ही पीलिया ख़त्म हो जाता है।

4 – जौ का पानी –

जौ का पानी का इस्तेमाल पीलिया रोग को ठीक करने के लिए बहुत ही पुराने ज़माने से चलता आ रहा है जिन लोगो को पता है इसके बारे में वो लोग इसका इस्तेमाल आज भी करते है। जौ के पानी का इस्तेमाल करने से 6 दिनों में इसका असर दिखाना शुरू हो जाता है।
इसके लिए जौ को आप रात भर पानी में भिगो कर रख दे और सुबह इस पानी को छान कर पी ले रोज़ सुबह इसका सेवन करने से कुछ ही दिनों में आपका पीलिया जड़ से ख़त्म हो जाएगा।

5 – विटामिन्स c –

जैसा की हमने आपको पहले भी बताया है की विटामिन्स c वाली कोई भी जूस या फल खाने से आपका पीलिया का रोग ख़त्म हो जाता है (jaundice symptoms in Hindi)जैसे – संतरा,नारियल पानी,अमला,नीबू,मूली के पत्तो का रस इन सारी चीज़ो का सेवन करने से भी पीलिया ठीक हो जाता है।

6 – पुदीना –

पुदीना के पत्तो का पेस्ट बना कर दिन में 2 बार सेवन करने से पीलिया ठीक होने लगती है।

7 – पपीता –

पपीता खाने से आपको विटामिन के साथ साथ मिनरल्स भी काफी मात्रा में मिलती है ऐसा माना जाता है की जो लोग पपीते का सेवन हमेशा करते है उन लोगो को बहुत ही कम कोई बीमारी होती है। पपीता खाने से आपको पीलिया रोग से भी छुटकारा मिलता है।

8 – टमाटर –

पीलिया के रोग में टमाटर का सेवन करने से बहुत फायदा मिलता है – टमाटर के रस में पीसी हुई काली मिर्च और थोड़ा सा सेंधा नमक मिला कर पिने से पीलिया रोग में रहत मिलती है।

9 – हल्दी –

जैसा की आपको पता ही होगा की हल्दी में कई औषधिक गुण पाए जाते है। जो कई प्रकार की बीमारियों को ख़त्म तो करता ही है साथ ही साथ हमारे शरीर को किसी भी इंफेक्शन से बचाने में मदद भी करता है। हल्दी से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोग क्षमता मजबूत होती है ,और हमेशा से ही पीलिया से बचने के लिए हल्दी का इस्तेमाल भी किया जाता है।

10 – बकरी का दूध –

बहुत बार ऐसे केस भी होते है जब नवजात शिशु को भी पीलिया की समस्या आ जाती है और हमे ये समझ नहीं आता की इतने छोटे बच्चे को क्या दिया जाए जिससे की शिशु का पीलिया ख़त्म हो जाए –(jaundice symptoms in Hindi) ऐसे में आप शिशु को बकरी का दूध दे सकते है बकरी के दूध से पीलिया जड़ से ख़त्म हो जाता है। बकरी के दूध में कुछ ऐसे तत्व पाए जाते है जो पीलिया रोग को ठीक करने में सहायता प्रदान करती है।

read more informatoin –

home remedies for acidity 2021 | एसिड की परेशानी अब ख़त्म

height badhane ke liye kya khaye

यूरिक एसिड बढ़ने का कारण, लक्षण और इलाज

मछली खाने के लाभ और नुकसान