coronavirus india update 2020

coronavirus india update : भारत के दिल्ली, उत्तर प्रदेश, राजस्थान ,और तेलंगाना में कोरोनावायरस के मरीजों की पुष्टि हुई है और इन राज्यों की आबादी करीब 32 करोड़ है भारत में हर 4 में से एक व्यक्ति इन्हीं राज्यों में रहता है और अगर कोरोना वायरस इन राज्यों में फैल गया तो देश की अर्थव्यवस्था को बहुत नुकसान होगा चीन के हुबेई प्रांत से कोरोनावायरस की शुरुआत हुई थी और वायरस पहले की खबर आने के बाद चीन ने खूबी की सीमाएं बंद कर दी थी और आज भी इस प्रांत के करीब छह करोड़ लोग अपने घरों में कैद लेकिन 135 करोड़ की जनसंख्या वाले भारत के लिए इतनी बड़ी जनसंख्या की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाना बहुत मुश्किल काम होगा तो यह कर लिया एक या दो प्रांतों में कुछ प्रांतों में लेकिन भारत में करना आसान काम नहीं होगा.

coronavirus india update : 15 लाख करोड़ का नुकसान होने की आशंका है और यह भारत की जीडीपी से भी करीब 11 लाख करोड रुपए ज्यादा फॉर इकोनामिक कोऑपरेशन एंड डेवलपमेंट के मुताबिक इस वर्ष पिछले 10 वर्षों के मुकाबले दुनिया की अर्थव्यवस्था की रफ्तार सबसे कम रहेगी तो ऐसे ही मंदी चल रही है इस मंदी का मुकाबला करने के लिए वर्ल्ड बैंक ने गरीब देशों को ₹87000 की मदद का ऐलान किया है भारत समेत दुनियाभर के शेयर बाजारों पर पड़ रहा है आज भारतीय शेयर बाजार के सेंसेक्स में 300 अंकों की गिरावट गिरावट हुई है जबकि 3:30 सौ कंपनियों के शेयर की कीमत पिछले 1 वर्ष में आज सबसे कम है 19 फरवरी से लेकर अब तक निवेशकों को करीब ₹130000000 का नुकसान हो चुका है अमेरिकी शेयर बाजार में भी निवेशकों को अब तक ₹300 से ज्यादा का नुकसान हो चुका है असर भारतीय दवा उद्योग पर भी पड़ रहा है भारत में दवाओं के निर्माण के लिए 80% कच्चा माल चीन से आयात होता है.

लेकिन अब रॉ मैटेरियल्स की कीमतें करीब दुगनी हो गई है और इसकी वजह से भारत में दवाओं की कीमतें बढ़ सकती हैं चीन के हुबेई प्रांत में ही दुनिया की 20 सबसे बड़ी ऑटो पार्ट्स बनाने वाली कंपनियां भी हैं इनमें से कई कंपनियों में बंद हो चुका है या उसमें भारी कमी आ गई है और इसकी वजह से भारत में गाड़ियों का निर्माण के मुकाबले 8% कम हो सकता है चीन में भी गाड़ियों की बिक्री करीब 92% कम हो गई है 3:00 में वायरस के डर से लोग कार शोरूम तक नहीं जा रहे हैं इसलिए वहां की कंपनियां अब ऑनलाइन ही करें क्योंकि लोग बाहर निकल नहीं सकते और जो निकलना भी चाहते हैं वह अब तक नहीं जाना चाहते भारत में मिलने वाले टेलीविजन वाशिंग मशीन 70% से अधिक और किए जाते हैं.

और आयात में कमी की वजह से गर्मियों के मौसम में आपको रेफ्रिजरेटर एयर कंडीशनर की ज्यादा कर सकते हैं और कई कंपनियों ने इलेक्ट्रॉनिक सामान का मूल्य बढ़ाना शुरू कर दिया है कोरोना वायरस से दुनिया की अर्थव्यवस्था की रफ्तार पर ग्रहण लगने की पूरी आशंका है इसलिए आपको भी इसकी पूरी तैयारी कर लेनी चाहिए विजय सामने आपको बताया दवाइयां महंगी हो सकती हैं इलेक्ट्रॉनिक आइटम महंगे हो सकते हैं कारों की प्रोडक्शन पर इसका असर पड़ सकता है और जो जो भी सारा सामान हम चीन से आयात कर रहे हैं स्पेयर पार्ट चिंता याद कर रहे हैं कच्चा माल चीन से आयात कर रहे हैं उन सब चीजों पर बुरा असर पड़ेगा उनकी प्रोडक्शन उनकी सप्लाई कम हो जाएगी और फिर उनके दाम बढ़ जाएंगे.

अब आपको बताते हैं कि आप कोरोनावायरस के लक्षणों को कैसे पहचान सकते हैं और कैसे आप साधारण ब्लू और कोरोनावायरस के अंतर को समझ सकते हैं .

coronavirus india update : आज इस संबंध में आपके सारे सवालों का जवाब देंगे आप ध्यान से विशेषण को सुनिए और आप चाहे तो नोट भी कर सकते हैं सबसे पहला सवाल है कि क्या आपको कोरोनावायरस का टेस्ट करवाना चाहिए क्या ऐसा लग रहा है कि आपको यह संक्रमण हो चुका है तो पहली बात है कि अगर आपको सर्दी या दुकान है या फिर सांस लेने में परेशानी हो रही है तो जरूरी नहीं है है कि आपको कोरोनावायरस क्यों कुछ खास तिथियों में ही आपको कोरोना वायरस का टेस्ट कराना चाहिए हर केस में वरना वायरस का इन्फेक्शन की पुष्टि नहीं होती यह स्थितियां है इस स्थिति में आपको टेस्ट कराना चाहिए यह सत्य है सूची खांसी अगर आपको है आपको यह बदन में दर्द है आपकी नाक बंद है गले में दर्द है या गले में जलन है या आपके मांसपेशियों में आपको दर्द हो रहा है इन लखनऊ के साथ आपको बुखार हो बुखार ना भी हो आपको कोरोनावायरस की स्पेलिंग जरूर कर आनी चाहिए.

इसके अलावा अगर आपके श्वसन तंत्र में काफी इंफेक्शन है और इसके पीछे कोई दूसरी वजह जिम्मेदार नहीं है तो भी आपको कोरोनावायरस का टेस्ट कराना चाहिए आती है कि अगर आपने यह लक्षण सामने आने से कम से कम 14 दिन पहले के 86 देश की यात्रा की है जहां अब कोरोनावायरस तेजी से फैल रहा है तो आपको कोरोनावायरस की स्क्रीनिंग से गुजर ना ही होगा अगर आप कोरोना वायरस से पीड़ित किसी व्यक्ति के संपर्क में आए हैं तो आपको सावधान हो जाना चाहिए और अपना टेस्ट जरूर कराना चाहिए लेकिन अगर आपको शक है कि आपको कोरोनावायरस हो सकता है तो सबसे पहले आपको खुद को बाकी के समाज से और अपने परिवार से आइसोलेट कर लेना चाहिए या नहीं आपको अपने परिवार वालों के करीब भी नहीं जाना चाहिए अपने परिवार वालों से कह कर सबसे पहले आप को मनाना चाहिए ताकि जब आप ठीक हैं यहां से तो यह वायरस दूसरों तक ना पहले साथियों अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और उसे अपने शरीर के लक्षणों और अपनी ट्रेवल हिस्ट्री के बारे में जरूर बताएं.

आप की जांच करके पता लगा लेंगे कि आपको कराना भारत का टेस्ट कराने की जरूरत है या नहीं कराने की सलाह देते हैं तो फिर आपके सैंपल की जांच करवाई जाएगी और जब तक रिपोर्ट नहीं आती आपको आइसोलेशन में रहना होगा अलग रहना होगा आपके आसपास कोई और नहीं आ सकता अस्पताल में एक आइसोलेशन वार्ड में आपको रखा जाएगा लेकिन अगर आप का रिजल्ट नेगेटिव भी आ गया तू भी आपको 14 दिनों के लिए घर पर ही रहना होगा आइसोलेशन में क्योंकि कई बार इस वायरस के लक्षण सामने आने में 14 दिनों का समय लग जाता है.

कोरोना वायरस के इंफेक्शन ने दुनिया भर में लोगों का एक दूसरे से मिलने का तरीका अब बिल्कुल बदल दिया है आप भी अपने दोस्तों से मिलते होंगे तो उनसे सबसे पहले आप हाथ मिलाते होंगे या उसे गले मिलते होंगे दुनिया की सभ्यताओं में विश्व की सभ्यताओं में मैं आपको हाथ मिलाने या गले मिलने से बचना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आप भी कोरोनावायरस का शिकार हो सकते हैं या फिर किसी और को संक्रमित कर सकते हैं इसलिए आपको हाथ नहीं मिलाना किसी से और आपको उसके गले भी नहीं लगता शरीर का आपस में कांटेक्ट नहीं होना चाहिए.

तो आज से आप भी इन आदतों में बदलाव ला सकते हैं और जितना ज्यादा संभव हो हाथ जोड़कर नमस्कार करने की आदत डालें हाथ ना मिलाएं नमस्कार करें इससे आप भारतीय परंपरा का पालन भी करेंगे और वायरस से भी दूर रह पाएंगे इस समय मैं दुबई में हूं और यहां पर पारंपरिक अभिवादन का एक तरीका यूज़ टू वेटिंग है और दुबई में लोग जब भी किसी से मिलते हैं या विदा लेते हैं तो अपनी नाक से दूसरे व्यक्ति की नाक पर वह दूसरे का अभिवादन करते हैं स्वास्थ्य मंत्रालय ने जनता को ऐसा करने से बचने के लिए कहा है कि मैं अब कहने का नया तरीका अपनाया जा रहा है और यह भारत के नमस्कार से मिलता-जुलता है इसी तरह जापान में भी कोई व्यक्ति जब एक दूसरे से मिलते हैं उनके सामने झुकाकर अभिवादन करते हैं सम्मान देने के तरीके को कहते हैं इसमें भी किसी से आपका संपर्क नहीं होता इसलिए आप इस वायरस से बचत तैयारी वापस अपने परंपरागत तरीकों को विदेशों में अक्सर लोग मिलते हैं तो कई बार एक दूसरे को किस करने की परंपरा रहती है लेकिन यहां भी आपको अब लोगों से दूर से हाथ मिलाने जावेद करने की सलाह दी जा रही है आप कर सकते हैं कि आंखों में देखकर भी उनका अभिवादन कर सकते हैं यूएई की तरह न्यूजीलैंड में भी लोग एक दूसरे को सम्मान देने के लिए अपनी नाक को दूसरे व्यक्ति की नाक से कई बार टच कर आते हैं .

और इसे होंगी या नोज रब्बी कहते हैं लेकिन कोरोनावायरस के डर से अब यह सभी परंपराएं बदल रही है जामिनी में एक मीटिंग के दौरान वहां के एक मंत्री ने वहां की चांसलर एंगेला मर्कल से फ्रेंडशिप करने से मना कर दिया और इस मीटिंग में एंगेला मर्कल ने अपने एक मंत्री से हाथ मिलाने की कोशिश की लेकिन जवाब में उसने तीन है हेलो कहकर उनका अभिवादन किया बाद में अगला मकान ने भी अपने मंत्री के इस फैसले को सही बताया या नहीं अब जर्मनी में भी वहां के जो बड़े-बड़े नेता हैं वह भी एक दूसरे से हाथ नहीं मिला रहे हैं यूरोप के कई देशों ने अपने नागरिकों की रक्षा करने के लिए उन्हें अपनी आदतों को बदलने की अपील की है आप भी अपना सकते हैं आसान नहीं होगा क्योंकि हमारे देश में अभी सबसे पहले गर्म किसी को बोलते हैं तो हमारा जो हाथ है वह अपने आप आगे बढ़ जाता है और हाथ मिलाने के बाद हमें इस बात का अंदाजा होता है कि हमें एक नहीं करना चाहिए था इसलिए अगर कोई व्यक्ति आपसे हैंडसेट करना चाहे हाथ मिलाना चाहे तो आप उसे दूर से नमस्कार कर सकते हैं और खुद को सुरक्षित कर सकते हैं हाथ मिलाने की परा को थोड़े दिन के लिए बंद कर दीजिए .

coronavirus india चीन में चीन ने इससे जुड़ी खबरों को बाहर नहीं आने दिया और कपड़ों को सेंसर कर दिया चीन में भारत के बढ़ते प्रकोप के बारे में दुनिया को 20 जनवरी को पता चला था लेकिन चीन ने कोरोनावायरस की खबरों पर 31 दिसंबर से प्रतिबंध लगा दिया था 84 हफ्तों में अखबारों और मीडिया में अननोन वहान निमोनिया और वाहन हेल्थ कमीशन जैसे शब्दों के इस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी गई थी यह शब्द इस्तेमाल नहीं कर सकते थे 500 ऐसे शब्दों पर पाबंदी लगा दी थी जो कराना इनमें निमोनिया डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन वायरस फॉर मेडिकल जनरल और वहां मार्केट जैसे शब्द शामिल थे आप कहीं भी इस्तेमाल नहीं कर सकते मीडिया सरकार की सेंसरशिप के तहत काम करता है इसलिए वहां से खबरें आसानी से बाहर नहीं आती लेकिन अब कई कांग्रेसी छोरी में यह दावा किया जा रहा है कि इस वायरस को चीन ने अपनी ही लैब में एक हथियार के तौर पर विकसित किया था लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि आज से कई वर्ष पहले छपे दो किताबों में चीन से खेलने वाले इस तरह के वायरस के बारे में जिक्र किया गया था लिखा गया था ऐसी किताब है.

जिसका नाम है एंड एंड एंड ऑफ़ द वर्ल्ड खिताब 2008 में प्रकाशित हुई थी और इसमें सिलविया ब्राउन लेखक की लेखिका हैं उन्होंने और सांस लेने की प्रक्रिया पर पड़ेगा और इस पर कोई दवाई असर नहीं करेगी तुझे यह बात उन्होंने बरसों पहले इस किताब में लिखी है किताब में यह भी लिखा था कि जैसे यह बीमारी अचानक सामने आई है वैसे ही अचानक गायब हो जाएगी लेकिन 10 वर्षों के बाद यह बीमारी फिर से लौटेगी और पूरी तरह से गायब हो जाएगी इस पुस्तक में कुछ दूसरी बीमारियों के इलाज के संदर्भ में की गई भविष्यवाणी या गलत साबित हुई है इससे पहले भविष्यवाणी सही साबित होगी या नहीं 40 वर्ष पहले 1981 में छपी एक और किताब द राइज ऑफ द मैच में भी ऐसी एक जानलेवा बीमारी का ऐसे जानलेवा वायरस का जिक्र किया गया था इस किताब में लिखा था कि यह वायरस चीन के वुहान की एक लैब में बनाया जाएगा इस सचिन बनाएगा किताब में इस वायरस को 140 का नाम दिया गया था लेकिन इन किताबों में लिखी बातों और कोरोनावायरस से जुड़े तथ्यों में काफी अंतर भी है इसलिए इन कहानियों को सटीक भविष्यवाणी के तौर पर शायद अभी नहीं देखा जा सकता लेकिन यह जरूर कहा जा सकता है कि कोरोनावायरस आज की दुनिया की बहुत बड़ी सच्चाई है और इसे नहीं रोका गया तो यह दौर आने वाले भविष्य की किताबों में काले अध्याय के तौर पर दर्ज हो जाएगा.

sudhir chaudhary dna coronavirus ,coronavirus case, coronavirus alert, coronavirus test positive, coronavirus dna,

coronavirus,
coronavirus outbreak,
coronavirus news,
coronavirus in delhi,
coronavirus symptoms,
corona virus in delhi,
coronavirus in india,
coronavirus india,
india coronavirus,
coronavirus scare in india,
impact of coronavirus in india,
coronavirus positive cases in india,
corona virus delhi,
corona virus,
coronavirus bangalore,
coronavirus agra,
coronavirus chennai,
coronavirus crisis,
coronavirus kerala,
coronavirus hyderabad, coronavirus india

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *