क्या करें और क्या ना करें? जानिए Coronavirus से जुड़ी अहम बातें

Coronavirus कोरोना वायरस : सरकार उपाय कर सकती है लेकिन सबसे अहम लोगों को खुद सतर्क रहने को लेकर यार क्या करें और क्या ना करें कोरोना वायरस को कैसे पहचाने और फिर से किस तरीके से नब्बे को बताती हमारी यह महत्वपूर्ण रिपोर्ट आपके लिए पूरी दुनिया में करुणा वायरस भले का भला हो लेकिन इसकी दहशत ने घर-घर में पैठ जमा ली है पूर्णा वायरस चीन में महामारी बन चुका है और अब रोकथाम और बचाव की लाख कोशिशों के बावजूद भारत में हमला करने लगा है.

अब सवाल यह है कि आखिर यह पहचान कैसे हो कि कोई कोरोना वायरस से पीड़ित है क्योंकि इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया यही वजह है कि इसकी पहचान करना आसान नहीं लेकिन इसके लक्षणों से अंदाजा लगाया जा सकता है डब्ल्यूएचओ के मुताबिक संक्रमण से जुखाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है बुखार खांसी सिर में तेज दर्द नाक पहना और गले में खराश की तकलीफ इसके लक्षण है अच्छी तरह 20 सेकंड हाफ हुए शोक और वाटर सबके पास अवेलेबल है ऑप्शन है उसके अलावा हम सैनिटाइजर इस्तेमाल कर सकते हैं अपने घर के बाद दोनों को फोन कर सकते हैं जो भी घर में है उससे आग्रह करें कि अपने हाथ धो के अंदर आए अभी न करें आलिंगन न करें और अगर किसी को जरा सा भी खासियत उसके दो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है इसलिए इसे लेकर बहुत सावधानी बरती जा रही है लिहाजा बचाओ भी जानना जरूरी है.

करना क्या है और क्या नहीं करना है यह समझ लीजिए सबसे पहले तो अपने हाथों को साफ रखें साबुन और सैनिटाइजर का लगातार इस्तेमाल करें हंसते और चीते समय मुंह को ढक कर रखें हाथ मिलाने से बचें सार्वजनिक जगहों पर कुछ भी छूने से बचें खाना अच्छी तरह पकाएं जानवरों के संपर्क में आने से बचें सार्वजनिक जगहों पर n95 मास्क पहने.

बीमारी के लक्षण दिखने पर डॉक्टर या नजदीकी अस्पताल से तुरंत संपर्क करें आपको लगता है कि आपको सिम्टम्स है तो आपको फ्रेश और मौत कवर करना है फेसबुक मनोज खबर करना है रविवार जा जहां भी बाहर जब भी बाहर जाएं इंसान घर में भी आप घर के अंदर भी इंस्पेक्टर कैसे हैं सब घर में भी एक रूम में उनको ऐसे लेट कर सकते हैं आमा scan-it फाइट यूज करें डिटेल प्रिवेंट प्रदर्शन हैंडसेट की जगह अगर आपको किसी को डिलीट करना है तो नमस्ते का उपयोग करें अब जब दुश्मन दरवाजे पर हो तो डरने की जगह लड़ना ही समझदारी है.

अगर आप सावधान और सतर्क रहेंगे तो काफी हद तक देश के कहर से बचाव संभव है और अगर लापरवाही बढ़ती तो इसकी चपेट में आने की संभावना ज्यादा हो जाएगी .

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *